भारतीय राजनीति में बदलाव

एक समय था जब भारत की राजनीति मौलानाओं और उनके फतवों के इर्द-गिर्द ही घूमती रहती थी जिसके चलते राजनेताओं का तुष्टिकरण हावी था।