भागवत जी के बयान से सहमत हूँ।

यह एक लिटमस टैस्ट है।इसका उपयोग मैं अपनी मित्रता सूची अपडेट करने में कर रहा हूँ।इससे पहले कि मैं आपको अमित्र करूँ, आप स्वयं भी “पधार” सकते हैं।बाकी, “कन्धे से कंधा मिलाकर” तुम कितना लड़ोगे, हम पहले ही जानते थे।बस मन रखने को हूँ हाँ कर लिया करते थे।काफी समय से, ब्राह्मण विक्टिम कार्ड खेलकर … Read more