अपने अंदर के क्षत्रित्व को पहचानो

जब दुनिया में कोई विदेशी यह कहते हैं कि हम क्षत्रिय तो हैं नहीं! सोचकर देखिये, हम कितने भाग्यशाली हैं।