फव्वारे, मकबरे और बिरियानी की हकीकत

जहां स्नान और मुंह धोने तक को पानी नहीं था, उन्होंने फव्वारा बना दिया!! न ग्रेविटी का ज्ञान न भूगोल न खगोल।
पृथ्वी की गतियों को अब भी नकारते हैं और फव्वारा बना गये!!

गुलाब कोठारी का प्रोपोगेंडा हुआ उजागर..

गुलाब कोठारी वर्षों पहले इसने बीजेपी के माध्यम से राज्यसभा में जाने के बहुत हाथ पैर मारे थे लेकिन जब इसे सांसद नहीं बनाया गया तो यह लम्बे समय से कोपभवन से हिन्दू विरोधी एजेंडा चला रहा था।

साहस और संघर्ष

साहस और संघर्ष पर एक बात करते है अश्विनी उपाध्याय के बहाने
यह पोस्ट इसलिए नहीं लिख रहा हूँ कि मुझे सत्य बोलने या अधिक बोलने का कीड़ा काट गया है। इसलिए लिख रहा हूँ कि जब भविष्य में ऐसा कुछ करें तो और प्रभावी हो।