अग्निपथ योजना समाज के भीतर सिविल डिफ़ेंस तैयार करने के लिए है।

ये योजना नौकरी देने की योजना नहीं है। यह योजना समाज के भीतर सिविल डिफ़ेंस तैयार करने के लिए है। योजना का मुख्य उद्देश्य ही लोगों को सैनिक अभ्यास कराकर समाज में छोड़ना है न की उनको लेकर रखना है।

नाम का महत्त्व कम मत आंकिए!

1965 और 1971 के भारत पाक युद्धों में, जबकि संचार का सबसे सुलभ माध्यम रेडियो था, देश के जवानों में उत्साह और वीरता का संचार करने के लिए दिन रात जो गीत बजाए जाते थे उनमें बार-बार महाराणा प्रताप और शिवाजी महाराज के नाम गूँजते थे।

आजादी के क्रांतिवीर

जब हम स्वतंत्रता पर चर्चा करते हैं
तब देशभक्त हो जाते हैं। स्वयं को देशभक्त मानकर कहीं भाषण देते हैं, कहीं भाषण सुनते हैं। उसमें कई नाम और प्रसंग भी आते हैं। मुझे सबसे ज्यादा कोफ़्त होती है जब कोई गाँधी या नेहरू का नाम लेकर आजादी के बारे में बात करते हैं।

अफगानिस्तान में तालिबान | हमारी स्थिति क्या है ?

अफगान सेना साढ़े तीन लाख, अफगानिस्तान की जनता का मौन समर्थन स्वयं की वायुसेना सहित अमेरिकी वायुसेना का सपोर्ट, भारत, रूस, उज्बेकिस्तान, ताजिकिस्तान का पूर्ण समर्थन और दूसरी ओर सिर्फ नब्बे हजार तालिबान लड़ाके।
फिर भी जानते हैं अफगानी सेना क्यों हार रही है?

भारत में तालिबान समर्थक…

अफगानिस्तान में जिस तरह से महिलाओं पर होने वाले अमानवीय अत्याचारों को झुठलाया जा रहा है…