उत्तर प्रदेश निर्णायक मोड़ पर खड़ा है…

उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री अर्थात 188 देशों के राष्ट्राध्यक्ष से भी बड़ा, भारी और चुनौतीपूर्ण पद है।
देश की सबसे समझदार जनता यूपी की है।

मोदी जी की नीयत साफ है…

जब राज की नीयत शुद्ध हो तो प्रकृति भी सहयोग करती है। वरना बंगाल में आज भी मानव बल से साइकिल रिक्शा चल रहा है और सड़कों पर दम तोड़ने की घटनाएं भी केवल वहीँ बची है।

योगी जी हमारे अपने है…

समय की मांग समझो.. हमारा तू तू मैं मैं घर की बात है पर विपक्षी खेमा एक अंगुली भी टच कर देगा तो हमारी आत्मा खुद हमे माफ नहीं करेगी।
प्राण प्रण से कूद जाओ इस महासमर में…

योगी आदित्यनाथ जी की हस्तरेखाएँ…

यह योगीजी का हाथ है। वे जब तब, किसी बात का जवाब देते हुए अपना हाथ लहराते हैं तो उनकी हस्तरेखाएँ दिख गई।

आएगा तो योगी ही…

फिर अचानक एक चमत्कार जैसा होता है। एक तो सर्दी का मौसम, ऊपर से सभी खिड़कियां बन्द, केवल एक दरवाजा है जिस पर घरातियों ने घेरा लगाया हुआ है।

अंधाधुंध पट्टा वितरण कोई साजिश तो नहीं ?

एक वीडियो में हमारे माननीय मंत्रीजी साले मोहम्मद अधिकारी को धमकाते हैं कि 5000 पट्टे जारी करो वरना सस्पेंड कर दूँगा।